Featured Post

Lifestyle

5 life changing motivational movie in hindi

जिंदगी बदल देगी ये फिल्मे || life changing motivational hindi movie 



जैसे हमारे हाँथ की पांचो अंगुलिया एक समान नहीं होती वैसे हमारे जिंदगी के सभी दिन एक समान नहीं रहती
एक साधरण वक्ती के जीवन में कभी आशा तो कभी निराशा कभी सुख तो कभी दुःख वक्ती कभी हारता है तो कभी जित हासिल होती है| लेकिन कभी कभी जिंदगी इंसान को ऐसी मोड़ पर ला देती है की आदमी मुसीबतो से घिर जाता है | ऐसी परिस्थिति में उसे थोड़ा प्रोत्साहन की जरुरत होती है कुछ प्रोत्साहित बाते  उसे  मुसीबत से उभरने के लिए जादू की तरह काम करता है इसी बातो को ध्यान में रखकर आपको इस पोस्ट में  ऐसे पांच motivatinal फिल्मो के बारे में बताया गया है  जब  भी आपको लगे की आप बुरे परिस्थिति से गुजर रहे है |  या अपने जिंदगी से परेशान हो गए हो आपको अपने आप पर से बिस्वाश टूटने लगा हो आप पूरी तरह से डिमोटिवेट हो गए हो तो आप  इन पांच फिल्मो को जरूर देखे |




best hindi movie

 

i am kalam


यह मूवी 12 साल के लड़के छोटू के ईद गीद घूमती है लड़का छोटू होटल में काम करने वाला रहता है | वह एक दिन टीवी में अब्दुल  कलाम सर को देखता है | अब्दुल कलाम सर  को टीवी में देखकर छोटू को भी अब्दुल कालम जैसा बनने का मन में इक्छा पकट होता है छोटू सपना देखता है की मैं भी शूट बूट टाई और अच्छी जुत्ते पहनूंगा लोग मेरी भी इज्जत करंगे तो फिर क्या था छोटू अपना नाम बदल कर कलाम रख लेता है और वह पुरे दिन होटल में काम करता है और रात को खूब बढ़ता है बच्चे की माँ बोलती है कालम इतनी बड़ी बड़ी सपने मत देखो ऐसे सपने हम जैसे गरीबो के नसीब में नहीं है | लेकिन बच्चा अपने माँ के  बातो को नजर अंदाज करते हुए अपने सपने को पाने के लिए पूरी सीदत से मेहनत करता है  | इस फ़िल्म द्वारा हमे यही बताने का कोसिस किया गया है की नसीब जैसे कोई चीज नहीं होती नसीब हमारे कर्मो द्वारा बनते है |


Bhaag milkha Bhaag


भाग मिल्खा भाग मूवी में मिल्खा सिंह के जीवन पर प्रकाश किया गया है की कैसे मिल्खा सिंह भारत और पाकिस्तान बटवारे के बाद दुखो के सैलाब को झलते है उनके सामने ही पाकिस्तान में उनके माता पिता और पुरे परिवार की निर्दयता से हत्या कर दी जाती है|  मिल्खा सिंह वहा से अपना जान बचाकर भाग जाते है और वह बुरे कामो से घिर जाते है चोरी डकैती करने लग जाते है | फिर उनके एक लड़की से प्यार हो जाता है वह अपने प्यार के लिए खुद को बदलने का सोचते है और वह आर्मी ज्वाइन करते है | उन्हें एक बार दौड़ने  का मौका मिलता है और वह उस दौड़ के लिए बेहद मेहनत करते है कई बार वह अपने पसीने से पूरी बाल्टी भरे और उनके मुंह से खून भी आता है लेकिन वह अपना प्रयास नहीं छोड़ते है|  और लगे रहते है और वह अपने दौड़ की मदत से इंडिया को बहोत सरे मैडल भी दिलाय | हमे इस फ़िल्म द्वारा यही बताने का प्रयास किया गया है की आप अपने जीवन में मेहनत करने से कभी मत कतराय क्योकि बिना मेहनत के हमे कुछ हासिल नहीं हो सकता क्योकि मेरे

 दोस्त मेहनत जितनी जानदार होगी सफलता उतनी संदर होगी | 


Tare zameen par


तारे जमी पे एक अनोखी मूवी है यह मूवी देखने के बाद शायद आप का भी आंखे थोड़ी नाम हो सकती है | हलाकि उतनी बड़ी इस मूवी में इमोस्शनल  sence नहीं पर उस  लड़के के देखने के बाद मन अजीब सा हो जाता है | कैसे एक हस्ता खेलता लड़का बिलकुल खामोस हो जाता है और उसका पूरा दिन रोते रोते निकल जाता है लड़के को पढ़ने लिखने में बिलकुल भी मन नहीं लगता क्योकि वह बातो को गौर से सुन नहीं पता और उस कुछ भी याद नहीं रहता है उसके माता पिता सोचते की बच्चा मस्करी कर रहा है इसलिए दूसरे शहर के स्कुल में दाखिला करवा दिया जाता है | वह लड़का बहोत खूबसूरत पेंटिंग भी बनता था लेकिन वह दूसरे शहर के स्कुल जाने के बाद सब कुछ छोड़ देता है वह दिन रात बास रोते रहता है | लेकिन वह एक टीचर की मदद से फिर नार्मल हो जाता है  और वह पढ़ना लिखना भी शिख जाता है  उसकी खोई हुई पैन्टिन्ग फिर से जिन्दा हो जाता है  | यह फ़िल्म हमे यही सन्देश देती है की हमे बच्चो सभी प्रोब्लेम को देखनी चिहिए और उसकी हर प्रॉब्लम सोल्व करनी चाहिए  गुस्सा नहीं होना चाहिए  की लड़का नौटंकी कर रहा है पढ़ाई से भाग रहा है हमे बच्चो में पढ़ाई की ललसा जाग्रत करनी होगा और उन्हें जो अच्छी लगती है उन्हें वही करने की आजादी देना होगा  |


Manjhi the mauntain man


कौन कहता है छेद आसमा में नहीं हो सकता |
एक प्थर तो तबियत से उछालो यारो |

इन पंक्तियों को सही साबित करती है मांझी the maunten man movie ये मूवी सच्ची घटना पर आधारित मूवी है | मांझी जिन्होंने अपनी पत्नी फगुनिया की याद में एक बड़ा  पहाड़ को केवल का हथोड़े और छेनी के मदद से काट कर रास्ता निकल दिये उनकी पत्नी उन्हें एक दिन खाना देने के लिए जा रही थी तभी उनका पैर  फिसला और वो पहाड़ से गिर गई  और पूरी तरह से जख्मी हो गई  और पहाड़ की वजह से सही समय पर अस्पताल नहीं पहुंच पाने की वजह से उनकी मृत्यु हो गई |तभी मांझी ने निश्च्य किये की जिस पहाड़ की वजह से मेरी फगुनिया मुझे छोर कर चली गई उस पहाड़ को काट कर मै रास्ता निकलूंगा ताकि किसी को इस पहाड़ की वजह से ऐसी परिस्थि का सामना न करना पड़े और फिर क्या था उन्होंने ने हथोड़ा और छेनी उठाया और  पहाड़ को काटकर रास्ता निकाल दिए | इस मूवी से हमे यही सिखने को मिलता है | कठिन कार्यो से कभी घबराना नहीं क्योकि की

कोई भी काम पहाड़ तोड़ने से काम ही होता है |


3 Idiots


एक बेहतरीन मूवी है मेरे अंदाज से काफी काम ही ऐसे लोग होंगे जो इस मूवी को नहीं देखे होंगे |
यह मूवी कामयाब होने के बजाय काबिल होने पर जोर देती है | यह मूवी हमे बताती है की हमे वही काम चुनना
चाहिए जिस काम को करने में हमे  ख़ुशी मिलती है जो काम हम बिना बोर हुए लगातार कर सकते है | किसी के दबाव में आकर या किसी के देखा देखि कर के कार्य का चुनाव कभी न करे क्योकि आप को पछतावा के सिवा कुछ हासिल नहीं होने वाला है | अगर आप अपने जिंदगी में एक भी दिन काम नहीं करना चाहते है तो आप उसी कार्य को चुनिए जो आप को दिल से अच्छा लगता हो तो आपको  succese जरूर मिलेगी |



दोस्तों आपको ये पोस्ट कैसा लगा comment कर जरूर बताय 
हमे इंतजार रहेगा | 























5 life changing motivational movie in hindi 5 life changing motivational movie in hindi Reviewed by vishal pathak on December 04, 2018 Rating: 5

No comments:

Theme images by fpm. Powered by Blogger.