Featured Post

Lifestyle

gupta dham bihar

gupta dham || जहां भस्मासुर से डर कर छिप गये थे भोले नाथ


आज हम बिहार के धर्म स्थलों में सुमार "गुप्ता धाम" के बारे  जानेंगे जहां बाबा भोले नाथ भस्मासुर से डर कर चिप गए थे |   गुप्ता धाम बिहार के रोहतास जिला के चेनारी प्रखंड के  कैमूर के पहाड़ियों में स्थित है | गुप्ता धाम का गुफा चारो और से पहाड़ियों और प्राकृतिक पेड़ पोधों से घिरा  हुआ है जहाँ जाने से और देखने के बाद आँखों में अलग सी छबि उभरती है|


bhole nath
baba bole nath gupta dham


 गुप्ता धाम  गुफा के  अंदर बाबा भोले नाथ के दर्शन  होते है |  बाबा भोले नाथ के शिव लिंग के ऊपर हमेसा पानी टपकता रहता है जिसे भक्त प्रसाद स्वरूप ग्रहण करते है  गुफा के अंदर काफी अँधेरा रहता है जहां बिना किसी लाइट  प्रकाश के जाना मुश्किल सा है | गुफा के अंदर एक गढ़ा है जिसके अंदर हमेसा पानी रहता है जिसका पानी कभी ख़त्म नहीं होता जिसे श्रद्धालु पतालगंगा बोलते है| 

गुप्ता धाम  सावन के महीनो में भक्तो की भिड़ उमर परती है | गुप्ता धाम में भक्त दूर दूर से दर्सन के लिए आते है | गुप्ता धाम में बसंत पंचमी और शिवरात्रि पर मेला भी लगता उस समय भी भक्तो की भिड़ देखने को मिलती है | गुप्ता धाम में बाबा के जला अभिषेक  करने से भक्तो की सारि मनोकामनाय बाबा भोले नाथ पूरा करते है और बाबा अपने भक्तो पर अपना कृपा सदा बनाय रखते है

गुप्ता धाम का इतिहास 

कथाओं के अनुसार भस्मासुर बाबा भोलनाथ के कठिन तपस्या किया जिससे बाबा भोले नाथ खुश  होकर भस्मासुर से कोई एक वरदान मांगने के लिये बोले भस्मासुर बाबा भोले नाथ से एक ऐसा वरदान माँगा और बोला हे प्रभु अगर आप हमसे खुस है तो हमे एक ऐसा वरदान दीजिय जिसे हम अगर किसी के सर पर हाथ रख दू तो वो जल कर भस्म हो जाय  भोले नाथ ने वरदान स्वरूप उसे वरदान में किसी के ऊपर हाथ रख कर भस्म करने का वरदान दे दिये भस्मासुर वरदान पाकर  बाबा भोले नाथ को भस्म करने की कोसिस करने लगा  जिसके चलते बाबा भोले नाथ एक गुफा में गुप्त रूप से  जाकर छिप गये | भगवान विष्णु को भोलेनाथ की विवस्ता देखि नहीं गई  तब विष्णु भगवान ने एक सुन्दर स्त्री के वेश में आकर भस्मासुर से अपने एक हाथ को सर पर और एक हाथ को कमर  पर रखकर नाचने का प्रस्ताव रखे भगवान विष्णु के बातो  में आकर भस्मासुर सुर ने बात को मान  लिया और जैसे ही वह एक हाथ को कमर पर और एक हाथ को सर पर रखा रखते ही जल कर भस्म हो गया इस तरह भस्मासुर  का अंत हुआ |

भस्मासुर  से गुप्त रूप से छिपे होने के कारण  उस गुफा का नाम गुप्ता धाम पड़ा

गुप्ता धाम का वीडियो



गुप्ता धाम जाने का रस्ता

गुप्ता धाम भक्त सासाराम और कुदरा दोनों रेलवे स्टेशन से जा सकते है स्टेशन  उतरने के बाद चेनारी जाने के बाद चेनारी से किसी आटो से उगहनी घाट उतरने के बाद पैदल जाना पड़ता है | आगे का रास्ता काफी कठिन  होता है | कठिन और दुर्गम रास्ते को पार करने के बाद बाबा भोले नाथ के दर्शन होते है |


प्रेम से बोलो बाबा भोले नाथ की जय









gupta dham bihar gupta dham bihar Reviewed by vishal pathak on August 07, 2018 Rating: 5

No comments:

Theme images by fpm. Powered by Blogger.