Featured Post

Lifestyle

Lonelinees in hindi

अकेलापन एक गहरी समस्या ||Lonelinees se kaise bache

नमस्कार दोस्तों आज  की पोस्ट में हम अकेलापन  चिंता और अकेलापन के कारण और समाधान के बारे में बात करने जा रहे है |
 श्यामि विवेकानंद का एक मशहूर कथन है अगर आप चिंता और अकेलापन से मुक्ति पाना चाहते है तो आप ज्यादा से ज्यादा समय अपने अपने बच्चो के बिच में बिताय लेकिन होता उसका ठीक उल्टा है | आज यदि हम कहे की पूरा दुनिया आज चिंता और अकेलापन का शिकार बना हुआ है | तजा आकड़ों के अनुसार भारत में लगभग 50 लाख लोग चिंता और अकेलापन से जूझ रहे है  | दोस्तों ये ध्यान दे की ये आकड़ें बिश्व ग्लोबल रिपोर्ट के ताजा सर्वे 2004 की है | यदि अकेलापन की बात करे तो बिश्व में दक्षिण एशिया का सबसे अधिक अकेलापन और चिंता से ग्रस्त आधी आबादी चीन और और भारत में ही है यही नहीं बिश्व के यूरोपीय देश भी इससे पीछे नहीं है | हम बात करे यूरोपीय देश जैसे कनाडा इग्लैंड ें
इन सभी देशो में तो अकेलेपन और मानसिक चिंता इतनी गहरी समस्या है की यहां की सरकार को एक मंत्रालय तक गठित करना पड़ा  |

akelapa shyri
akelapan

साथियो हम बात करे ऐसे अकेलेपन से ग्रसित भारत और बिश्व की युवा पीढ़ी की | हम आज देख रहे है भरत के लोग में अधिकांश लोग या तो अपने अन्य प्रकार के गैजेट में व्यस्त रहते  हैं या तो अकेलेपन में बैठे रहते है उन्हें ना तो अपने माता पिता न कोई अन्य भाई बन्धु और नाही अपने दोस्तों से कोई मतलब रह गया है इन  सभी साधनो का उपयोग कर हम अपने से दूर होते जा रहे है | पहले के दिनों में देखा जाता था की सब परिवार पास बैठ कर अपने सभी दुखो सुखो के बारे में बात करते थे लेकिन ऐसा अब बिलकुल भी नहीं है हर कोई अपने में ही व्यस्त है |

असल में बात करे तो हम अपनी युवा की ज्यादा तर वह अपने smart phone के साथ ही बिताते है | इससे उनकी एकग्रता क्षमता पर बुरा प्रभाव पड़ता है |
दोस्तों असल में हम बात करे तो ज्यादा तर चिंता और तनाव का काकारन  हमारा फ़ोन ही है



दोस्तों अगर अकेलापन से अगर आप बाहर निकलना चाहते है तो आपको सबसे पहले अपने फोन से दुरी बनाय मेरे कहने का मतलब यह है की अपने फ़ोन का उपयोग काम करे क्योकि अगर आप दुसरो से जाकर बैठ कर बाते  करंगे तो स्वभाविक है की आप अपने आप को भरपूर महसूस करंगे  और आपका अकेलापन चिंता तनाव सब दूर हो जायगा अगर दोस्तों आप अगर किसी से बात नहीं करेंगे हमेसा फ़ोन से ही लगे रहेंगे तो ये आपका मन हमेसा ही चिंता तनाव महसूस करेगा तो दोस्तों आप ज्यादा समय अपने फ़ोन के साथ न बिताय आप ज्यादा समय अपने सगे समन्धितो के साथ ही बिताय



आप जब भी अकेलापन महसूस करे तो आप कही घूमने चले जाय इससे आपका मन अच्छा फील करेगा |
या आप कोई अच्छा सा किताब पढ़े |

ध्यान ( meditetion) जी है दोस्तों आप ध्यान से अपने अकेलापन चिंता तनाव को दूर कर सकते है | क्योकि दोस्तों आप का दिमाग अगर ठीक रहेगा तो आप को ऐसी समस्या देखने को नहीं मिलेगी सारि बाते हमारी सोच पर ही निर्भर रहता है अगर आपका सोच सही रहेगा तो आपको ऐसी समस्या का सामना नहीं करना पड़ेगा और

सोच को सही करने के लिए आप meditetion यानि धयान कर सकते है

धन्यवाद

आपको यह हमारा post कैसा लगा निचे comment कर जरूर बताय




















Lonelinees in hindi Lonelinees in hindi Reviewed by vishal pathak on August 17, 2018 Rating: 5

No comments:

Theme images by fpm. Powered by Blogger.